माँ पार्वती की आरती

माँ पार्वती की आरती

आरती

माँ पार्वती की आरती

जय पार्वती माता
जय पार्वती माता
ब्रह्मा सनातन देवी
शुभ फल की दाता ।

॥ जय पार्वती माता ॥

अरिकुल पदं विनाशनी
जय सेवक त्राता,
जगजीवन जगदंबा
हरिहर गुण गाता ।

॥ जय पार्वती माता ॥

सिंह को वाहन साजे
कुण्डल है साथा,
देब बंधु जस गावत
नृत्य करत ता था ।

॥ जय पार्वती माता ॥

सतयुग रूप शील अति सुन्दर
नाम सती कहलाता,
हिमाचल घर जन्मी
सखियन संग राता ।

॥ जय पार्वती माता ॥

शुम्भ निशुम्भ विदारे
हिमाचल स्थाता,
सहस्त्र भुज तनु धारी के
चक्र लियो हाथा ।

॥ जय पार्वती माता ॥

सृष्टि रूप तुही है जननी
शिव संग रंगराता,
नन्दी भृंगी बीन लही है
हाथ मतदाता ।

॥ जय पार्वती माता ॥
देवन अरज करत
तब चित को लाता,
गावत दे दे ताली
मन में रंग राता ।

॥ जय पार्वती माता ॥

श्री कमल आरती मैया की
जो कोई गाता ,
सदा सुखी नित रहता
सुख संपति पाता ।

॥ जय पार्वती माता ॥

Please Share This Article

वेद पुराण

संबन्धित पोस्ट

मां गंगा आरती

वेद पुराण

मां गंगा आरती

पूर्ण लेख पढ़ें.....
शुक्रवार आरती

वेद पुराण

शुक्रवार आरती

पूर्ण लेख पढ़ें.....
महालक्ष्मी आरती

वेद पुराण

महालक्ष्मी आरती

पूर्ण लेख पढ़ें.....

Leave a Comment

वेद पुराण ज्ञान

भारतीय संस्कृति/ सभ्यता को सर्वोपरि रख कर सभी तक अपने पूर्वजों के द्वारा दिया हुआ ज्ञान आप तक पहुचाने के लिए बनाया गया सरल हिन्दी भाषा में